Home » Mere Malik Mera Hai Muhafiz

Mere Malik Mera Hai Muhafiz

mere malik mera hai muhafiz
Chorus

मेरे मालिक मेरा है मुहाफ़िज़ तू – 2,
तेरे कदमों में बैठा मैं बैठा रहूं – 2
हाथ अपने उठाउं मैं सिजदा करूं – 2,
तेरे कदमों में बैठा मैं बैठा रहूं – 4

Verse-1

ध्यान धर कर तू सुनता हमारी,
हम्द – ओ – सन्ना हो महिमा तुम्हारी – 2
हर पल तेरा ही है खुदावन्द,
और है सारी इज्ज़त तुम्हारी – 2
तेरे नाम को लब पर सजाए – 2
तेरे कदमों में बैठा मैं बैठा रहूं – 4

Verse-2

टूटे दिल को तू हकीर न जाने,
संग होकर तू इज्जत संवारे तू
उठती आंखें जो तेरे फ़ज़ल पर,
अपने पंखों को तू उनपर पसारे -2
टूटे दिल को तू फिर से सजा दे -2
तेरे कदमों में बैठा मैं बैठा रहूं – 4

Mere Malik Mera Hai Muhafiz Lyrics and Chords