Home » Mere Mehboob Pyare Masiha

Mere Mehboob Pyare Masiha

मेरे मेहबूब प्यारे मसीहा

मेरे मेहबूब प्यारे मसीहा
किस जगह तेरा जलवा नहीं है
किस जगह तेरी शोहरत नहीं है
किस जगह तेरा चर्चा नहीं है

1. लोग पीते हैं और गिर जाते है
मैं तो पीता हूँ गिरता नहीं हूँ
मैं तो पीता हूँ दर पे मसीह के
को अंगूरों का सिरका नहीं है

2. मर गयी थी वो याईर की बेटी
तूने उसपे निगाहे करम की
कर दिया उसको जिन्दा यह कहकर
ये तो सोती है मुर्दा नहीं है

3. आँख वालो ने तुझको है देखा
कान वालो ने तुझको सुना है
तुझको पहचानते है वो इंसान
जिनकी आँखों में पर्दा नहीं है

4. जिसमे शामिल न हो इश्क़ तेरा
वह परस्तिश , परस्तिश नहीं है
तेरे कदमो पे होता नहीं जो
कोई सिजदा वह सिजदा नहीं है |

Chorus :
Mere mehboob pyare MASIHA
Kis jagah tera jalwa nahin hai
Kis jagah teri kudrat/shaurat nahin hai
Kis jagah tera charcha nahin hai

Verse 1 :
Log peete hai aur gir jate hai
Main to peeta hoon girta nahin hoon
Main to peeta hoon dar pe MASIH ke
Vo angooron ka sheera nahin hai

Verse 2 :
Mar gayi thi vo jeras ki beti
Tune us par nigahein karam ki
Kar diya usko zinda yeh kehkar
Ye to soti hai murda nahin hai

Verse 3 :
Aankh walon ne tujh ko hai dekha
Kaan walon ne tujh ko suna hai
Tujh ko pehchante hai vo insaan
Jinki aankhon mein parda nahin hai

Verse 4 :
Jisme shaamil na ho ishq tera
Vo parastish parastish nahin hai
Tere kadmo pe hota nahin jo
Koi sajda vo sajda nahin hai

 

Mere Mehboob Pyare Masiha Lyrics and Chords